Google mein kam samay me Index hone wali ya list hone wali service kaise likhe

आपका फिर से स्वागत हैं आपका kaisesikhe.com पर। पिछले १ वर्ष से कुछ अलग कार्यों में व्यस्त रहने के कारण हम वेबसाइट पर नयी पोस्ट नहीं भेज पा रहे थे | मगर आज हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक लेकर लौटे हैं और वो है Google में जल्दी Index होने वाली पोस्ट कैसे लिखें. Google mein kam samay me Index hone wali ya list hone wali service kaise likhe.

दोस्तों अगर आपकी कोई वेबसाइट या ब्लॉग हैं और आप उस पर पोस्ट लिख रहें हैं किन्तु चिंतित हैं कि वह google द्वारा index क्यों नहीं की जा रही हैं तो उसका समाधान आज मैं आपको यहाँ बताने जा रहा हूँ | इस पोस्ट में मैं आपको कुछ ऐसी ट्रिक एवं नियम बताने जा रहा हूँ जिससे आपकी पोस्ट google द्वारा जल्दी index कर ली जाएगी |

यहाँ हम आपको वो सलाह या सुझाव दे रहें हैं जो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन पर बेहतर स्थिति में रखते हैं | ये सलाह या सुझाव खुद सर्च इंजिन्स द्वारा भी सुझाये गए हैं | इन पॉइंट्स को ध्यान रख कर आप अपने वेबसाइट की बेहतर इंडेक्सिंग कर सकते हैं | दोस्तों अगर आपकी कोई वेबसाइट या ब्लॉग हैं और आप उस पर पोस्ट लिख रहें हैं मगर चिंतित हैं कि वह google द्वारा index क्यों नहीं की जा रही हैं तो उस समस्या का निवारण आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं |

Google में जल्दी Index होने वाली पोस्ट कैसे लिखें | Google mein kam samay me Index hone wali ya list hone wali service kaise likhe

Post title Kaisa Hona chahiye पोस्ट का शीर्षक कैसा होना चाहिए- Post ka Title kaisa Hona chahiye

page title यानि आपकी वेबसाइट का जो शीर्षक हैं वह, शीर्षक title कुछ इस प्रकार का होना चाहिए जो ना तो बहुत ज्यादा बड़ा हो न ही बहुत छोटा और उसे पढ़ते ही समझ में आ जाना चाहिए कि इस पोस्ट में किस तरह की जानकारी होगी | जैसे आज का हमारा शीर्षक हैं “Google में जल्दी Index होने वाली पोस्ट कैसे लिखें” यह एक सवाल हैं जो बहुत से ब्लॉगर के मन में होता हैं तो कहीं ना कहीं वे इसे google में search जरुर करते होंगे | इसके आलावा और भी कई बातों का ध्यान रखना होता हैं शीर्षक के लिए जो इस तरह हैं |

  • जब भी आप शीर्षक (Title) बनायें पहले उसे गूगल में सर्च करें, यदि पहले से ही वह मोजूद हैं तो ऐसा शीर्षक (Title) ना रखें |
  • आपकी पोस्ट जिस language में लिखी हो उसी में शीर्षक रखें ऐसा ना करें की शीर्षक हिन्दी में और अन्दर पोस्ट हिंगलिश (रोमन हिन्दी) में हो |
  • किसी भी word को रिपीट न करें जैसे, Ram क्या होती हैं, Ram के क्या कार्य हैं, आप इसे इस तरह लिख सकते हैं Ram क्या होती हैं, इसके क्या कार्य हैं |
  • कभी भी 2 language का इस्तेमाल शीर्षक बनाने में नहीं करें जैसे पोस्ट कैसे लिखें | how to write post यह गलत तरीका होगा| आप एक ही भाषा का प्रयोग करें |
  • जो भी आपका शीर्षक(Title) हो उसे आपकी पोस्ट में कम से कम एक बार h2, h3 या h4 में अवश्य लिखना चाहिए |
  • किसी भी शीर्षक में स्पेशल कैरक्टर को ना रखें जैसे “पोस्ट (post) कैसे लिखें”
  • जहाँ तक संभव हो Permalink में आपके शीर्षक को रखने की कोशिश करें |

Post First paragraph kaisa hona chahiye पोस्ट का पहला पेरेग्राफ कैसा होना चाहिए

किसी भी पोस्ट के पहले पेरेग्रफ में आपको बताना होता है कि आपको इस पोस्ट में किस विषय पर जानकारी मिलेगी जिसकी शुरुआत आप अपने पाठकों के अभिवादन से करें | एक और बात का विशेष ध्यान रखें कि आपके पहले पेरेग्राफ में शीर्षक को समाहित जरुर करें

पहले पेरेग्राफ में आप सिर्फ उस विषय के बारे में जानकारी दे जिसके बारे में आप अपनी पोस्ट में लिखने वाले हैं | एवं उसेक बाद वाले पेरेग्राफ से अपनी बात कहना शुरू करें, और ध्यान रखें कि कोई भी पेरेग्राफ 200 से अधिक शब्दों का ना हो |

Heading Kaisi rakhen पोस्ट का हैडिंग कैसे रखें

कभी भी अपनी पोस्ट में h1 heading का प्रयोग ना करें क्योकि आपकी पोस्ट के शीर्षक में पहले से ही h1 tag use किया जा चूका है | आप h2 या किसी अन्य heading tag का प्रयोग कर सकते हैं | 1 heading के निचे आप 300 से ज्यादा शब्द ना लिखें और अगर ज्यादा लिखना हो तो एक sub heading जरुर add करें |

Image bhi Important hain पोस्ट में इमेज कैसी होना चाहिए

किसी भी पोस्ट के लिए इमेज सबसे जरुरी होती हैं कम से काम एक इमेज तो हर पोस्ट में होना ही चाहिए | कोई भी इमेज लगाने के वक्त ध्यान रहें उस इमेज की size जितना हो सके कम रखें और alt tag में आपकी पोस्ट का शीर्षक लगाना ना भूलें |

Content satik Hone chahiye पोस्ट का कंटेंट कैसा होना चाहिए

जब भी आप कोई पोस्ट लिखें तो उसका कंटेंट ऐसा हो जिसे पढ़कर आपके पाठक को उसी विषय की जाकारी के लिए किसी अन्य वेबसाइट पर जाने की जरुरत महसूस ना हो | आप छोटे छोटे पेरेग्राफ एवं इमेज के माध्यम से हर टॉपिक को सही क्रम में व्यवस्थित तरीके से लिखें जिससे आपके पाठकों को पढ़ने में रूचि भी आये और वे समझ भी पायें |

एक बात का ध्यान और रखें वो यह कि आपके कंटेंट में कम से कम 4 से 5 बार आपके मुख्य शीर्षक को समाहित जरुर करें एवं आपका पूरा कंटेंट कम से कम 600 शब्दों का जरुर हो इसकी अधिकतम सीम 5000 भी रख सकते हैं |

Last paragraph ka rakhen khyal पोस्ट का अंतिम पेरेग्राफ कैसा होना चाहिए

जिस तरह आपने पहले पैराग्राफ में पोस्ट के मुख्य शीर्षक को समाहित किया था ठीक उसी तरह आपको अंतिम पेराग्राफ में भी वैसा ही करना है | आप चाहें तो शीर्षक को अंतिम पेराग्राफ में बोल्ड कर सकते हैं जिससे google को index करने में आसानी होती हैं | इसके आलावा लास्ट पेराग्राफ में आप अपने पाठको से आपकी पोस्ट पर कमेंट एवं उनकी राय जानने के लिए लिख सकते हैं एवं उनसे आग्रह कर सकते है कि वे आपकी पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे |

अंतिम पेराग्राफ में आप अपने यूजर को सोशल मीडिया कि लिंक भी दे सकते हैं जहाँ से वे आपके सोशल मीडिया पर जुड़ सकें एवं आपके चैनेल या ब्लॉग को subscribe कर सकें |

LEAVE A REPLY